Solar off-Grid System VS Solar Hybrid System

Which Solar System is the best Off Grid or Hybrid??

Solar off-grid System VS Solar Hybrid System

Solar off-Grid System VS Solar Hybrid System

अगर आप भी अपने घर, ऑफिस या कारखाने के लिए solar energy system लगाने का सोच रहे हैं तो आपके मन में भी यह प्रश्न जरूर आता होगा कि solar off-grid system या solar hybrid system में से कौन सा सिस्टम आपके लिए सही रहेगा। इसके पहले आइए जानते हैं solar off-grid system क्या है और solar hybrid system किसे कहते हैं?

Solar off-grid system:

इसमें ग्रिड कनेक्शन के होने या ना होने से कोई फर्क नहीं पड़ता है। इसमें बैटरी भी लगाई जाती है जिससे सोलर पैनल द्वारा दिन में उपकरण को ऊर्जा देने के साथ-साथ बैटरी भी चार्ज होती है जिसे आप उस समय प्रयोग कर सकते हैं जब सोलर पैनल बिजली ना बनाए।

Solar hybrid system:

यह आपके ग्रिड से जुड़ा रहता है साथ में बैटरी भी दी जाती है जिसे आप सोलर और ग्रिड दोनों से चार्ज कर सकते हैं। ग्रिड से जुड़ा होने का फायदा यह होता है कि अगर हमारा लोड, सोलर से बनने वाली ऊर्जा से कम उपयोग हो रहा है तो बची हुई ऊर्जा को यह बिजली विभाग को export कर देता है जिसे आप जरूरत पड़ने पर बाद में ग्रिड से import कर सकते हैं और इससे बिजली का बिल कम आता है।

अब आपने solar off-grid system और solar hybrid system के बारे में जान लिया है तो आइए जानते हैं कि दोनों में कौन सा सिस्टम लगाना आपके लिए बेस्ट है।

Solar off-grid system की प्रमुख विशेषताएं :

1 . अगर आप के क्षेत्र में electricity नहीं उपलब्ध है या ना के बराबर आती है तो ऐसी स्थिति में solar off-grid system आपके लिए बेस्ट है।

2 . यदि आप बिजली की अनियमितता जैसे कि अनियमित कटौती या फिर अनियमित वोल्टेज सप्लाई से परेशान होकर सोलर अपना रहे हैं जिससे ग्रिड से पूरी तरीके से छुटकारा मिल जाए तो solar off-grid system एक बेहतर विकल्प है।

3 . यदि आप पर्यावरण प्रेमी है इसलिए ग्रिड कनेक्शन हटाना चाहते हैं ताकि पूरी तरीके से सोलर पर निर्भर हो सके तो आपको solar off-grid system ही लगाना चाहिए।

4 . यदि आपकी जरूरत कम है और कम मात्रा में सोलर लगाना चाहते हैं तो solar off-grid system का चुनाव करना सही है।

5 . यदि आप कम खर्च में बैटरी बैकअप के साथ सोलर लगाना चाहते हैं तो ऐसे में solar off-grid system एक बेस्ट ऑप्शन है।

6 . नॉर्मल solar off-grid inverter ट्रांसफार्मर बेस्ट टेक्नोलॉजी पर बने होते हैं और इनकी एफिशिएंसी 70 से 80 परसेंट तक होती है।

7. ऑफ ग्रिड इनवर्टर साइज में बड़े होते हैं और इनका वजन भी अधिक होता है इनको रखने के लिए अलग से जगह बनानी पड़ती है।

8. Solar off-grid inverter के साथ मुख्यता lead acid बैट्री का उपयोग किया जाता है जिनकी एफिशिएंसी 50 से 60 परसेंट तक होती है और इनको लगाने के लिए इनवर्टर के क्षमता के अनुसार जगह की आवश्यकता होती है।

9. solar off-grid system घरेलू या छोटे लोड के लिए उपयुक्त होते हैं।

10. Solar off-grid system काफी वर्षों से चलन में होने की वजह से इकोनॉमिकल भी होते हैं।

सोलर हाइब्रिड सिस्टम (Solar Hybrid System) की प्रमुख विशेषताएं:

1 . अगर आप पावर कट की समस्या से परेशान होकर सोलर अपनाना चाहते हैं जिसमें आप बैटरी बैकअप भी चाहते हैं और ग्रिड कनेक्शन भी रखना चाहते हैं तो solar hybrid system लगाना चाहिए।

2 . यदि आप बिजली के बिल से परेशान होकर अधिक से अधिक बचत करने के लिए सोलर अपना रहे हैं और बैटरी बैकअप भी चाहते हैं तो solar hybrid system सबसे उचित है।

3 . घर, ऑफिस या फैक्ट्री में यदि उपकरण की संख्या(भारी लोड) अधिक है जिसके वजह से अधिक मात्रा में सोलर लगाने की आवश्यकता है और बैटरी बैकअप भी ज्यादा चाहिए ऐसी स्थिति में solar hybrid system आपकी इन सभी जरूरत को पूरा कर सकता है।

4 . अगर आप कम से कम जगह में अधिक से अधिक पावर की बैटरी लगाना चाहते हैं और बैटरी के रखरखाव से छुटकारा चाहते हैं तो लिथियम आयन बैटरी के साथ solar hybrid system से बढ़िया कुछ नही।

5 . आज के समय में व्यस्तता वाले जीवन में सभी लोग चाहते हैं कि सारा काम एक ही जगह बैठे बैठे हो जाए। इसके लिए स्मार्ट फीचर के साथ आने वाले उपकरण का प्रयोग किया जाता हैं। ये सुविधा भीआपको solar hybrid system में मिल जाती है। इसमें आप अपने मोबाइल फोन से ही कहीं भी रह कर किसी भी समय अपने इस सिस्टम को मॉनिटर कर सकते है।

6. Solar hybrid inverter लेटेस्ट टेक्नोलॉजी (IGBT)से बने होते हैं और इनकी एफिशिएंसी 98% से ऊपर की होती है जिससे कि बिजली का नुकसान कम से कम होता है।

7. Solar hybrid inverter की खासियत यह होती है कि इसमें आप अपनी जरूरत के हिसाब से कई सारे इनवर्टर एक साथ (पैरलल या सीरीज में)जोड़ कर उनको एक साथ ही उपयोग कर सकते हैं जिससे आपका बड़े से बड़ा लोड भी आसानी से चल जाता है।

8. सोलर हाइब्रिड इनवर्टर आकार में बहुत छोटे होते हैं और बड़ी आसानी से दीवार पर भी माउंट हो जाते हैं जिससे कि दिखने में भी अच्छे लगते हैं और जगह भी बच जाती है।

9. Solar hybrid system में लिथियम आयन बैटरी का भी उपयोग किया जाता है जिनकी एफिशिएंसी भी 90% के ऊपर होती है और साइज में बहुत छोटी होती है, दिखने में सजावटी होती हैं और इनको भी दीवार पर माउंट किया जा सकता है।

10. सोलर हाइब्रिड सिस्टम छोटे-मोटे घरेलू लोड के साथ-साथ हैवी लोड जैसे कि बड़ी मोटर, AC या ऐसी मशीनें जिनका सर्ज अधिक होता है उनके लिए भी फिट होते हैं ।

Solar off-grid system और Solar hybrid system के अपने कई फायदे हैं लेकिन
ऊपर बताए गए कुछ बातों को ध्यान में रखकर आप अपनी आवश्यकता के अनुसार तय कर सकते हैं कि solar off-grid system एवं solar hybrid system में से कौन सा आप के लिए बेस्ट है

Comments are closed.