SOLAR SYSTEM INSTALLED BY ANYA GREEN ENERGY

SOLAR SYSTEM INSTALLED BY ANYA GREEN ENERGY

SOLAR SYSTEM INSTALLED BY ANYA GREEN ENERGY

11kW Solar System in Garhwa - Jharkhand

SOLAR SYSTEM INSTALLED BY ANYA GREEN ENERGY

सतेंद्र जी  ने गढ़वा झारखण्ड में 11 kw का सोलर सिस्टम लगवाया। गढ़वा जिला झारखण्ड (Solar System in Garhwa, Jharkhand) के पश्चिमी बॉर्डर पर उतरप्रदेश के सोनभद्र जिला से सटा हुआ है , यह जिला बेहद खूबसूरत और प्राकृतिक सौंदर्य से भरा हुआ है।  गढ़वा जिला में आपको बहुत से जलप्रपात और बांध देखने को मिल जायेंगे। 

सतेंद्र जी यहां पर एक आटा चक्की व्यापारी है , जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 11kw  का सोलर सिस्टम लगवाया।  जिससे इनकी पिसाई दर और मंथली होने वाले मेन्टेन्स खर्च से छुटकारा मिल गया , सतेंद्र जी 11 kw सोलर सिस्टम लगाने के साथ 505 पेड़ बचाने का  कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।। 

 

7kW Solar System in Jaunpur - Uttar Pradesh

WhatsApp Image 2023 06 13 at 10.37.48

मुकेश कुमार जी ने जौनपुर उत्तरप्रदेश (Jaunpur Uttar Pradesh) में 7kw Solar System लगवाया। जौनपुर जिला जो वाराणसी से सटा हुआ है। जौनपुर अपने  किला और मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है, साथ ही साथ यह अपने बेनी इमरती के लिए भी प्रसिद्ध है 

मुकेश जी यहाँ पर एक आटा चक्की व्यापारी है, जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 7kw  का सोलर सिस्टम लगवाया। जिससे इनकी पिसाई दर और मासिक में होने वाले मेन्टेन्स खर्च से छुटकारा मिल गया , मुकेश जी 7kw Solar System लगाने के साथ 335 पेड़ बचाने का कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।

 

 

 

17kW Solar System in Bahraich - Uttar Pradesh

WhatsApp Image 2023 06 13 at 10.37.45

देशराज यादव जी ने बहराइच उत्तरप्रदेश में 17kw सोलर सिस्टम लगवाया (Solar System in Bahraich)। बहराइच जिला जो गोंडा से सटा हुआ है। बहराइच को ऐतिहासिक द्रिष्टी से अत्यधिक महत्व पूर्ण माना गया है। पौराणिक मान्यता के अनुसार इस क्षेत्र को ब्रह्मा जी ने विकसित किया था।  

देशराज जी यहाँ पर एक आटा चक्की व्यापारी है, जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 17kw  का सोलर सिस्टम लगवाया। जिससे इनकी पिसाई दर और मासिक में होने वाले रख – रखाव के खर्च से छुटकारा मिल गया , देशराज  जी 17kw सोलर सिस्टम लगाने के साथ 796 पेड़ बचाने का कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।

11kW Solar System in Gonda - Uttar Pradesh

SOLAR SYSTEM INSTALLED BY ANYA GREEN ENERGY

मंगल जी ने गोंडा उत्तरप्रदेश में 11kw सोलर सिस्टम लगवाया। गोंडा जो अपने आप में ही उत्तर प्रदेश का एक प्रसिद्ध जिला  है। गोंडा  जो प्रसिद्ध  है अपने पृथ्वीनाथ एवं स्वामीनारायण मंदिर के लिए।

 

मंगल जी यहाँ पर एक आटा चक्की व्यापारी है, जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 11kw  का सोलर सिस्टम लगवाया। जिससे इनकी पिसाई दर और मासिक में होने वाले रख – रखाव के खर्च से छुटकारा मिल गया , मंगल  जी 11kw सोलर सिस्टम लगाने के साथ 506 पेड़ बचाने का कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।

 

8.6kW Solar System in Ghazipur - Uttar Pradesh

WhatsApp Image 2023 06 13 at 10.37.38

अमरजीत कुमार जी ने गाज़ीपुर उत्तरप्रदेश में 8.6kw सोलर सिस्टम लगवाया। गाज़ीपुर जिला जो वाराणसी से सटा हुआ है। गाज़ीपुर अपने गंगा घाट और माँ कामाख्या मंदिर के लिए प्रसिद्ध है।  

 

अमरजीत जी यहाँ पर एक आटा चक्की व्यापारी है, जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 8.6kw  का सोलर सिस्टम लगवाया। जिससे इनकी पिसाई दर और मासिक में होने वाले रख – रखाव के खर्च से छुटकारा मिल गया , अमरजीत  जी 8.6 kw सोलर सिस्टम लगाने के साथ 395 पेड़ बचाने का कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।

11kW Solar System in Chandauli - Uttar Pradesh

SUCCESSFULLY INTSALLED BY ANYA GREEN ENERGY

आलोक जायसवाल जी ने चंदौली उत्तरप्रदेश में 11kw सोलर सिस्टम लगवाया। चंदौली जो वाराणसी से सटा हुआ है। चंदौली जो प्रसिद्ध है अपने अपने चंद्र प्रभा वन्यजीव पार्क के लिए। 

 

आलोक जी यहाँ पर एक आटा चक्की व्यापारी है, जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 11kw का सोलर सिस्टम लगवाया। जिससे इनकी पिसाई दर और मासिक में होने वाले रख – रखाव के खर्च से छुटकारा मिल गया, आलोक जी 11kw सोलर सिस्टम लगाने के साथ 506 पेड़ बचाने का कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।

16kW Solar System in Sonbhadra - Uttar Pradesh

SUCCESSFULLY INSTALLED BY ANYA GREEN ENERGY

शिवसरण अग्रहरि जी ने सोनभद्र उत्तरप्रदेश में 16kw सोलर सिस्टम लगवाया। सोनभद्र जो मध्य प्रदेश और झारखण्ड से सटा हुआ है। सोनभद्र  जो प्रसिद्ध है अपने अपने बांध एवं रेणुकेश्वर महादेव मंदिर के लिए। 

 

शिवसरण जी यहाँ पर एक आटा चक्की व्यापारी है, जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 16kw का सोलर सिस्टम लगवाया। जिससे इनकी पिसाई दर और मासिक में होने वाले रख – रखाव के खर्च से छुटकारा मिल गया, शिवसरण  जी 16kw सोलर सिस्टम लगाने के साथ 736 पेड़ बचाने का कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।

24kW Solar System in Jalaun - Uttar Pradesh

SUCCESSFULLY INSTALLED BY ANYA GREEN ENERGY

आशीष अवस्थी जी ने जालौन उत्तरप्रदेश में 24kw सोलर सिस्टम लगवाया। जालौन जो कानपुर और झाँसी के बीच में है। जालौन जो प्रसिद्ध है, अपने लंका मीनार एवं चौरासी गुम्बद के लिए। 

आशीष जी यहाँ पर एक आटा चक्की व्यापारी है, जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 24kw का सोलर सिस्टम लगवाया। जिससे इनकी पिसाई दर और मासिक में होने वाले रख – रखाव के खर्च से छुटकारा मिल गया , आशीष जी 24kw सोलर सिस्टम लगाने के साथ 1104 पेड़ बचाने का कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।

11kW Solar System in Azamgarh - Uttar Pradesh

SUCCESSFULLY INSTALLED BY ANYA GREEN ENERGY

सर्वेश गुप्ता जी ने आजमगढ़ उत्तरप्रदेश में 11kw सोलर सिस्टम लगवाया। आजमगढ़ जिला जो वाराणसी और जौनपुर से सटा हुआ है। आजमगढ़ जो माँ पल्हना देवी मंदिर के लिए प्रसिद्ध है।  

सर्वेश जी यहाँ पर एक आटा चक्की व्यापारी है, जिन्होंने अपने चक्की को सोलर से चलाने का फैसला लिया और आन्या ग्रीन एनर्जी से 11kw का सोलर सिस्टम लगवाया। जिससे इनकी पिसाई दर और मासिक में होने वाले रख – रखाव के खर्च से छुटकारा मिल गया , सर्वेश जी 11kw सोलर सिस्टम लगाने के साथ 506 पेड़ बचाने का कार्य किये है। जिससे अब पैसो की बचत के साथ ये अपने खुबशुरत पर्यावरण को भी बचा रहे है।

11kW Solar System in Chandauli - Uttar Pradesh

बात करते है चंदौली, उत्तर प्रदेश का, जो मशहूर है अपने झरना, बांध एवं चन्द्रप्रभा वन्यजीव पार्क के लिए। ऐसे प्राकृतिक वातावरण में रहने वाले लोग भला क्यों ही नहीं प्रकृति के बारे में सोचेंगे।  यहाँ के निवासी अरविन्द तिवारी जी है , जो एक आटा चक्की व्यापारी है।  जो अपने चक्की को बिजली से चलाते थे , जिससे इन्हे अनियमित रूप से उठ के काम करना पड़ता था और साथ ही साथ पूर्ण रूप से एक बड़े बिजली बिल का भुगतान भी करना पड़ता था।  एक दिन ये कही ऐसे ही घूमने निकले थे तब इन्होने सोलर एनर्जी से चक्की चलते देखा तो ये अचंभित हो गए कि ऐसे भी चक्की चल सकती है क्या ! फिर इन्होने पता किया तो इन्हे सोलर एनर्जी में सबसे भरोसेमंद साथी आन्या ग्रीन एनर्जी के बारे पता चला। जब इन्हे सोलर चक्की के बारे में जानकारी दी गई तब ये पूर्ण रूप से संतुष्ट हो गए ,  जिसके  बाद इन्होने अपने यहाँ 11kW का सोलर सिस्टम लगाया (11kW Solar System in Chandauli – Uttar Pradesh) , जिससे आज ये अपनी आटा चक्की चलाने के साथ-साथ 506 पेड़ो को बचाने जितना योगदान भी किया है। 

16kW Solar System in Gorakhpur - Uttar Pradesh

बात करेंगे आज अमेरिका का , जिसका नाम सुनते ही मन में एक विकसित देश की छवि बन जाती है। लेकिन आज हम बात करेंगे श्री अमेरिका जी का जो गोरखपुर , उत्तर प्रदेश के निवासी है , यहाँ वो एक आटा चक्की व्यापारी है।  सालों से अमेरिका जी अपने चक्की और एक्सपेलर को डीजल इंजन से चला रहे थे जिससे वो अपनी कमाई का मोटा रकम डीजल में ही बर्बाद कर रहे थे, जिससे न तो उन्हें कोई अच्छा बचत हो रहा था , बल्कि साथ ही साथ डीजल से चक्की चलाने में मुश्किलें भी बढ़ती जा रही थी। अमेरिका जी अपने नाम की ही तरह एक विकसित समाधान ढूंढ रहे थे , तब इन्हे आन्या ग्रीन एनर्जी (Anya Green Energy ) के बारे में पता चला जो सोलर एनर्जी से चक्की चलाने में एक भरोसेमंद कंपनी है। इन्होने कंपनी से संपर्क करके अपने समस्या के बारे में बताया और जल्द से जल्द अपने समाधान यानी सोलर एनर्जी से चक्की को चलाने का फैसला किया।  अमेरिका जी के ज़रूरत के अनुसार इनके यहाँ 540W मोनो पर्क हाफ कट का 30  सोलर पैनल लगाया गया है जो कुल (16kW Solar System in Gorakhpur – Uttar Pradesh) के बराबर होता है, जिससे आराम से 18  इंच की चक्की और 6 बोल्ट का एक्सपेलर चलाया जा सकता है।  आज वो सोलर से अपने चक्की और एक्सपेलर दोनों को सकुशल चला भी रहे है , और साथ ही साथ अपने भविष्य के लिए बचत भी कर रहे है। इन्होने न सिर्फ अपने लिए बचत किया है, बल्कि साथ ही साथ इन्होने 736 पेड़ो को बचाने का योगदान भी किया है    

24kW Solar System in Deoria - Uttar Pradesh

आइये आज आपको देवरिया , उत्तर प्रदेश की ओर ले चलते है जो प्रसिद्ध है, अपने देवरहा बाबा आश्रम के लिए जो सरयू नदी के किनारे स्थित है।

 

यहाँ एक आटा चक्की व्यापारी जिनका नाम सतेंद्र गुप्ता है जो अपने चक्की को डीजल से चला कर अपने एक बहुत बड़े मुनाफे के हिस्से को नुकसान कर रहे थे।  इनको कुछ समय के बाद यूट्यूब से पता चला की सोलर एनर्जी से चक्की भी चल सकता है।  फिर क्या, इन्होने ज़रा भी देर न करते हुए अIन्या ग्रीन एनर्जी को संपर्क किया, जिनके द्वारा सतेंद्र जी के यहाँ (24kW Solar Sysytem in Deoria – Uttar Pradesh) में लगाया गया।  जिसमे 540W का 45 सोलर पैनल और 20HP का ड्राइव लगाया गया।  सोलर से चक्की चलाने के बाद सतेंद्र जी खुद बताते है कि उन्हें कितना फायदा हुआ है वो कहते है , “मैंने सोलर से चक्की चलाने के बाद जिन पैसो को मैं डीजल पर लगा रहा था आज उन्ही पैसो को मैं बचत कर रहा हूँ अपने परिवार के लोगो के लिए जो मेरे भविष्य में होने वाली ज़रूरतों को पूरा करेंगे।” इन्होने इस सिस्टम से सिर्फ अपने लिए ही नहीं बल्कि पर्यावरण के लिए भी एक अच्छा काम किया है, इन्होने इस सिस्टम को लगा कर 1104 पेड़ो को बचाने जितना योगदान भी किया है।